Parikrama Seva Sansthan

Parikrama Seva Sansthan

About

Know About Parikrama

Parikrama Seva Sansthan sees Akhanda Parikrama as his immortal practice through planetary constellations, bodies, meteor bodies in the entire universe. With this immortal practice, he automatically gets the energy, impulse, fertilization, flotation, ability, gratitude force for eternal life, all the basis to acquire the new, immersion of the old and biographical power for eternal life editing. Therefore, the earth in 24 hours on its axis. 01 times, 365 days in a round of the Sun with the bodies of fellow planets. Is circling. Thousands of Mandakini are in Akasha Ganga and thousands of Akash Ganga are Brahmanda in Akhanda Parikrama in Mandakini.....

Read More

परिक्रमा सेवा संस्थान

About

जानिए परिक्रमा के बारे में

परिक्रमा सेवा संस्थान संपूर्ण ब्रहमाण में ग्रह नक्षत्रों , पिण्डों , उल्का पिण्डों के द्वारा अखण्ड परिक्रमा को उनकी अमर साधना के रूप में देखती है । इस अमर साधना से उन्हें अनंत जीवन के लिए उर्जा , आवेग , संतूलन , प्लावन , क्षमता , गुतकर्षण बल , समस्त आधार नया को ग्रहण करने , पुराने को विसर्जन करने एवं अनन्त तरह के अनन्त जीवन संपादन के लिए जीवनी शक्ति स्वतः मिलता रहता है । इसलिए पृथ्वी अपने अक्ष पर 24 घण्टे में 01 बार , 365 दिन में सूर्य की एक चक्कर साथी ग्रहों के पिण्डों के साथ परिक्रमा कर रही है । हजारों शौर मण्डल मंदाकिनी में हजारो मंदाकिनी...

और पढो